18 March 2019

MP-CG के बड़े करदाताओं पर एक हजार करोड़ रुपए का टैक्स बाकी


By Straightkhabar :15-03-2019 08:01


भोपाल। मध्यप्रदेश-छत्तीसगढ़ के बड़े करदाताओं पर आयकर विभाग का अरबों रुपए का टैक्स निकल रहा है। 15 मार्च को एडवांस टैक्स जमा कराने की अंतिम तारीख है।

विभाग ने दस लाख रुपए से ज्यादा टैक्स देने वाले करदाताओं को चिन्हित कर कार्रवाई का अल्टीमेटम दे दिया है, क्योंकि इन पर ही करीब एक हजार करोड़ रुपए बाकी है। एडवांस टैक्स और विभाग की डिमांड समय पर नहीं भरने वाले करदाताओं से वसूली के लिए बैंक अकाउंट्स, फिक्स डिपाजिट सीज करने से लेकर छापे और सर्वे की तैयारी भी की गई है।

विभागीय सूत्रों का कहना है कि भोपाल कमिश्नरेट में ही बड़े बकायादारों को चिन्हित कर सूचीबद्ध किया गया है। ये ऐसे करदाता हैं जो विभाग को हर साल दस लाख रुपए से अधिक टैक्स देते हैं। इनमें से जिन्होंने सेल्फ असेसमेंट के जरिए एडवांस टैक्स जमा करने का वादा कर लिया था, लेकिन टैक्स अंतिम तिथि बीतने के बाद भी टैक्स जमा नहीं कराया, उनके खिलाफ कार्रवाई की तैयारी की गई है।

एरियर डिमांड के वे मामले जिनमें करदाता अपील में चला गया है उसे टैक्स की 20 फीसदी राशि अनिवार्य रूप से जमा करने को कहा गया है। यह राशि भी जिन्होंने जमा नहीं कराई, उनके खिलाफ अब बैंक अकाउंट और फिक्स डिपाजिट सीज करने जैसी कार्रवाई की जाएगी।

दोनों राज्यों में एक हजार करोड़ रुपए से अधिक टैक्स अटका

विभागीय सूत्रों का कहना है कि दोनों राज्यों में बड़े करदाताओं के पास विभाग का जो पैसा अटका हुआ है, उसका आकार एक हजार करोड़ रुपए से भी अधिक पहुंच सकता है। 15 मार्च एडवांस टैक्स जमा कराने की अंतिम तारीख है, इसके बाद करदाता संबंधित कंपनी के निदेशक और साझेदारों के खिलाफ वसूली के लिए छापे और सर्वे की कार्रवाई भी की जा सकती है।

बड़े बकायादारों के खिलाफ अभियोजन की तैयारी

विभाग के चीफ कमिश्नर आरके पालीवाल का कहना है कि दस लाख रुपए से ज्यादा टैक्स भरने वालों को रिमांइडर और नोटिस आदि के माध्यम से खासतौर पर समय पर टैक्स भरने के लिए कहा गया था। इसके बावजूद अंतिम तिथि बीतने के बावजूद जो लोग डिफाल्टर की श्रेणी में आएंगे, उन पर कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बताया कि हर कमिश्नरेट में विभाग ने बड़े करदाताओं और बकायादारों की सूची तैयार कर ली है। इनके खिलाफ अभियोजन जैसी कार्रवाई भी की जा सकती है।

Source:Agency